Module for ट्रेडर्स

मुद्राओं और जिंसों का परिचय

6. USD-INR जोड़ी का व्यापार

icon

जहां तक भारतीय मुद्रा जोड़े का संबंध है, USD-INR सबसे लोकप्रिय व्यापारिक जोड़ी है। तो, हम अपने इस अध्याय में इस मुद्रा जोड़ी पर ध्यान केंद्रित करने जा रहे हैं। आप USD-INR का व्यापार कैसे कर सकते हैं? जानने के लिए पढ़ते रहें।

स्पॉट मार्केट में USD-INR जोड़ी का व्यापार

स्पॉट मार्केट में USD-INR ट्रेडिंग काफी हद तक एक शेयर खरीदने, इसे कुछ समय के लिए होल्ड करने और कीमतों में बढ़ोतरी होने पर इसे बेचने की तरह है। आप स्पॉट मार्केट से USD-INR की जोड़ी खरीदते हैं और रेट बढ़ने तक इसे होल्ड करते हैं। फिर, आप इसे एक अच्छे मुनाफ़े के लिए उच्च कीमत पर बेचते हैं। या, अगर USD-INR का मूल्य बहुत तेज़ी से गिरता  है, तो आप शायद एक बड़े घाटे को रोकने के लिए अपनी होल्डिंग्स को बेच सकते हैं।

उदाहरण के लिए, मान लीजिए कि USD-INR की जोड़ी की कीमत वर्तमान में स्पॉट बाजार में ₹70.00 है। आप 100 USD, ₹7,000 में खरीदते हैं। एक या दो सप्ताह बाद, आप देखते हैं कि USD-INR का रेट ₹75.00 हो गया है। तो, आप जल्दी से अपने 100 USD, ₹7500 के लिए बेच देते हैं और इस तरह ₹500 का मुनाफ़ा कमाते हैं। आप इस तरह स्पॉट मार्केट में एक करेंसी पेअर यानी मुद्रा जोड़े को ट्रेड करते हैं।

लेकिन व्यापारी आमतौर पर डेरिवेटिव बाजार में कारोबार करना पसंद करते हैं, इसका मुख्य कारण यह है कि वहां लेवरेज होता। इस सेगमेंट में, आप USD-INR ऑप्शंस या फ्यूचर्स में व्यापार कर सकते हैं। 

USD-INR का ऑप्शंस मार्केट में कारोबार

चूंकि ये डेरिवेटिव हैं, तो USD-INR ऑप्शन का कारोबार $1,000 के लॉट साइज़ में किया जाता है। आपको याद होगा कि जब आप ऑप्शंस में कारोबार करते हैं तो  एक ऑप्शन कॉन्ट्रैक्ट का खरीदार होने के नाते आपको प्रीमियम का भुगतान करना होता हा। इसी भुगतान को समझने के लिए USD-INR ऑप्शन कॉन्ट्रैक्ट पर नज़र डालते हैं।

आप इस तस्वीर में जुलाई 2020 USD-INR कॉल ऑप्शन कॉन्टैक्ट के लिए मौजूदा कोट देख सकते हैं। इस जोड़ी के लिए स्ट्राइक प्राइस 76.0000 है। उस कॉन्ट्रैक्ट के लिए प्रति USD प्रीमियम 0.1525 है। अगर आप भविष्य में, USD मूल्य में बढ़ोतरी की उम्मीद करते हैं, तो आप आज एक कॉल ऑप्शन खरीदेंगे, ठीक?

आइए,देखते हैं USD-INR जोड़ी के विभिन्न संभावित विनिमय दरों पर एक्सपायरी पर क्या होता है?

A

B

C

D

E

F

एक्सपायरी पर संभावित USD-INR दर 

स्ट्राइक प्राइस

प्रीमियम प्रति डॉलर 

क्या आप ऑप्शन का प्रयोग करेंगे?

1$ पर होने वाला मुनाफ़ा या घाटा

(A-B-C, अगर ऑप्शन का प्रयोग किया जाता है)

कुल मुनफ़ा या घाटा

(₹ में)

(C x $1,000)

78.0000

76.0000

0.1525

हाँ

1.8475

1,847.50

76.0000

76.0000

0.1525

कोई प्रभाव नहीं पड़ता

(0.1525)

(152.50)

72.0000

76.0000

0.1525

नहीं

(0.1525)

(152.50)

आप देखते हैं कि जब रेट बढ़ता है तो आप मुनाफ़ा कमाते हैं, लेकिन रेट घटने पर आपका घाटा प्रीमियम तक सीमित रहता है? यह इक्विटी ऑप्शन की तरह ही है, है ना?

जब आप कीमतें गिरने की उम्मीद करते हैं, तो आप इसके बजाय एक USD-INR पुट ऑप्शन खरीद सकते हैं। इस तरह, आप ऊँची कीमत पर बिक्री कर सकते हैं और फिर कीमत के गिरने पर खरीदारी कर मुनाफ़ा कमा सकते हैं।

USD-INR का फ्यूचर्स मार्केट में कारोबार

डेरिवेटिव होने के नाते USD-INR जोड़े का कारोबार  $1,000 के लॉट साइज़ में किया जाता है। आपको याद होगा कि फ्यूचर्स में व्यापार करने के लिए आपको कॉन्टैक्ट के कुल मूल्य के एक प्रतिशत का मार्जिन के रूप में भुगतान करना होता है। आइए एक USD-INR फ्यूचर्स कॉन्ट्रैक्ट देखें।

इस तस्वीर में आपको जुलाई 2020 USD-INR फ्यूचर कॉन्ट्रैक्ट के लिए मौजूदा कोट दिखता है। जोड़ी के लिए मौजूदा कोट 75.3950 है। अगर आप भविष्य में, शायद अच्छी आर्थिक स्थिति के कारण, USD मूल्य के बढ़ने की उम्मीद करते हैं, तो आप आज इस कॉन्ट्रैक्ट को खरीद सकते हैं। 

आइए देखते हैं USD-INR जोड़ी की विभिन्न संभावित विनिमय दरों पर एक्सपायरी पर क्या होता है? 

A

B

C

D

एक्सपायरी पर संभावित USD-INR दर 

फ्यूचर प्राइस

1$ पर मुनाफ़ा या घाटा 

(A-B)

कुल मुनाफ़ा या घाटा 

(₹ में)

(C x $1,000)

78.0000

75.3950

2.605

2,605

75.3950

75.3950

0

0

72.0000

75.3950

(3.395)

(3,395)

आप देख सकते हैं कि जब रेट बढ़ता है तो आप अपने फ्यूचर से कैसे मुनाफ़ा कमाते हैं? इसी तरह, अगर आप एक मंदी के रूझान की उम्मीद करते हैं, तो USD-INR फ्यूचर बेचना एक अच्छी रणनीति होगी। अगर बाजार में गिरावट आती है तो आपको उससे मुनाफ़ा होगा। 

निष्कर्ष

तो यह था USD-INR व्यापार करने का तरीका। इस तरीके से आप कई अन्य वैश्विक मुद्राओं जैसे पाउंड, यूरो, येन और बहुत कुछ का व्यापार कर सकते हैं। अपने अगले अध्याय में हम इन मुद्राओं में व्यापार के विवरणों को जानने की कोशिश करेंगे।

अब तक आपने पढ़ा

  • जहां तक भारतीय मुद्रा जोड़े का संबंध है, USD-INR सबसे लोकप्रिय व्यापार जोड़ी है।
  • स्पॉट मार्केट में USD-INR जोड़ी का व्यापार करना काफी हद तक एक शेयर खरीदने, इसे कुछ समय के लिए होल्ड करने और कीमतें बढ़ने पर इसे बेचने जैसा है। आप स्पॉट मार्केट से USD-INR की जोड़ी खरीदते हैं और रेट बढ़ने तक इसे होल्ड करते हैं। फिर आप इसे एक अच्छे मुनाफ़े के लिए ऊंची कीमत पर बेच देते हैं।
  • आप USD-INR ऑप्शंस में भी व्यापार कर सकते हैं। ये डेरिवेटिव $ 1,000 के लॉट साइज़ में कारोबार करते हैं।
  • अगर आप भविष्य में USD मूल्य के बढ़ने की उम्मीद करते हैं, तो आप शायद आज एक कॉल ऑप्शन खरीदेंगे।
  • जब आप कीमतें गिरने की उम्मीद करते हैं, तो आप इसके बजाय एक USD-INR पुट ऑप्शन खरीद सकते हैं। इस तरह, आपका अनुमान सही निकलने पर, आप ऊँची कीमत पर बिक्री कर, उसकी कीमत कम होने पर दोबारा खरीदारी कर मुनाफ़ा कमा सकते हैं।
  • या, अगर आप भविष्य में USD मूल्य के बढ़ने की उम्मीद करते हैं, तो आप आज फ्यूचर कॉन्ट्रैक्ट खरीद सकते हैं।
icon

अपने ज्ञान का परीक्षण करें

इस अध्याय के लिए प्रश्नोत्तरी लें और इसे पूरा चिह्नित करें।

टिप्पणियाँ (0)

एक टिप्पणी जोड़े

Get Information Mindfulness!

Catch-up With Market

News in 60 Seconds.


The perfect starter to begin and stay tuned with your learning journey
anytime and anywhere.

Visit Website
logo logo

Get Information Mindfulness!

Catch-up With Market

News in 60 Seconds.

logo

The perfect starter to begin and stay tuned with your learning journey anytime and anywhere.

logo
logo

के साथ व्यापार करने के लिए तैयार?

logo